Homeफीचर्डनहीं थम रहा World Cup 2023 के वेन्यू को लेकर छिड़ा विवाद,...

संबंधित खबरें

नहीं थम रहा World Cup 2023 के वेन्यू को लेकर छिड़ा विवाद, अब BCCI के सामने आई नई मुसीबत

बीते 27 जून को ICC ने वनडे वर्ल्ड कप 2023 के लिए शेड्यूल और वेन्यू का ऐलान कर दिया है। वर्ल्ड कप 2023 की शुरुआत आगामी 5 अक्टूबर से होने जा रहा है। जो 19 नवंबर तक खेला जाएगा। इस टूर्नामेंट के दौरान कुल 46 दिनों में 48 मुकाबले खेले जाएंगे। राउंड रॉबिन फॉर्मेट में खेले जाने वाले इस टूर्नामेंट को आयोजित करने के लिए 12 अलग-अलग शहरों का चुनाव किया गया है। जिसमें चेन्नई, दिल्ली, अहमदाबाद, पुणे, धर्मशाला, लखनऊ, मुंबई, कोलकाता बेंगलुरु, तिरुअनंतपुरम, गुवाहाटी और हैदराबाद शामिल हैं। वर्ल्ड कप के मुकाबले केवल 10 शहरों में आयोजित किए जाएंगे।तिरुअनंतपुरम, गुवाहाटी का चुनाव सिर्फ अभ्यास मैचों के लिए किया गया है।

शेड्यूल के ऐलान के साथ देश के कई मैदानों को नजरअंदाज किए जाने को लेकर एक विवाद छिड़ गया है।जो थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसको लेकर अब एक बड़ी खबर सामने आई है। दरअसल पंजाब के खेल मंत्री गुरमीत सिंह मीत हेयर ने मेजबान शहरों की सूची से मोहाली को बाहर किए जाने को लेकर BCCI को एक पत्र लिखा है।

गुरमीत सिंह मीत हेयर में द्वारा BCCI को लिखा गया पत्र

BCCI को लिखे गए पत्र में गुरमीत सिंह मीत हेयर ने बीसीसीआई से कई सवाल पूछे हैं।“मैं जानना चाहता हूं कि ICC के कौन से मानदंड हैं, जिसके आधार पर मोहाली को वर्ल्ड कप 2023 की मेजबानी के लिए अयोग्य माना गया। इसके अलावा, वर्तमान में मानदंडों में किए गए किसी भी बदलाव को भी सामने लाया जाना चाहिए, क्योंकि मोहाली में भारत और ऑस्ट्रेलिया T20I मैच सितंबर 2022 में खेला गया था।

वर्ल्ड कप के अलावा दो सेमीफाइनल मैच भी पहले यहां आयोजित कराया जा चुका है। यह भी स्पष्ट किया जाना चाहिए कि क्या ICC की टीम ने मानकों का निरीक्षण करने के लिए मोहाली स्टेडियम का दौरा किया था? इस अन्याय को जल्द से जल्द ठीक करने की जरूरत है और यह न्याय के हित में होगा कि कुछ मैचों को पंजाब को आवंटित किया जाए और इसे ऐसे न छोड़ा जाए।”

जयशाह पर साधा था निशाना

BCCI को पत्र लिखने से पहले पंजाब के खेल मंत्री गुरमीत सिंह मीत हायर ने वर्ल्ड कप के वेन्यू में मोहाली को शामिल न करने को लेकर राजनीतिक हस्तक्षेप का आरोप लगाया था।पंजाब के खेल मंत्री गुरमीत सिंह मीत हायर ने कहा था कि, “मोहाली क्रिकेट स्टेडियम साल 1996 और 2011 में वर्ल्ड कप के कुछ प्रमुख मुकाबलों का गवाह रहा है। परंतु इस बार इस मैदान को मेजबानी का मौका नहीं दिया गया। सब जानते हैं कि BCCI की अगुवाई कौन कर रहा है।”

आपको बता दें, BCCI के उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला ने मोहाली को वेन्यू में शामिल न करने के पीछे का कारण बता दिया था। राजीव शुक्ला ने बताया था कि मोहाली स्टेडियम ICC के मानकों पर इस वक्त खरा नहीं उतर रहा था। क्योंकि टूर्नामेंट के लिए वेन्यू चुनने में ICC की सहमति जरूरी है इसलिए उसे इससे बाहर रखा गया है। अब पंजाब के खेलमंत्री ने उसी मानक को लेकर सवाल उठाए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

सबसे लोकप्रिय